गोदना पेंटिंग के जनक – शिवन पासवान

गोदना पेंटिंग के जनक - शिवन पासवान

गोदना पेंटिंग के जनक – शिवन पासवान गोदना पेंटिंग में मिथिला (मधुबनी) पेंटिंग को एक नया विस्तार दिया है और इस शैली के जनक के रूप में लहेरियागंज (मधुबनी) के शिवन पासवान का नाम बड़े ही आदर के साथ लिया जाता है | 04 मार्च, 1956 को पिता रामस्वरुप पासवान और माता कुसुमा देवी के […]

मधुबनी कला को समेटती, संवारती और समृद्ध करतीं गोदावरी को मिला पद्मश्री

godawari dutta padm shree

मधुबनी कला को समेटती, संवारती और समृद्ध करतीं गोदावरी को मिला पद्मश्री पांच दशक से इस कला को समेटती, संवारती और समृद्ध करतीं गोदावरी को अब जब पद्मश्री मिला है तो वे कह रही हैं कि मेरी तपस्या को मिला है फल… गोदावरी दत्त का जन्म एक निम्न मध्यम वर्गीय कायस्थ परिवार में दरभंगा के […]

मिथिला पेंटिंग की शान हैं बउवा देवी (Baua Devi)

Pride of Mithila Painting

मिथिला पेंटिंग की शान हैं बउवा देवी बउवा देवी (Baua Devi) का जन्म गुलाम भारत में मधुबनी के सिमरी (राजनगर) गांव में 25 दिसंबर, 1942 को हुआ था। मिथिला पेंटिंग के प्रति बउवा देवी (Baua Devi) का प्रेम और पागलपन इस कदर था की पांचवी कक्षा में ही पढाई छोड़कर इसी में रम गई। 12 […]