IPL 2019 Highlights: जानिए कैसे बना रहा है डिज़ाइन “IPL” को और भी महत्वपूर्ण | IPL (Indian Premiere League) भारतीय अर्थव्यवस्था का नया डिज़ाइन परिचालक "

भारत हमेशा से ही एक विकासोन्मुखी देश रहा है, दौर चाहे किसी चीज का हो हमेशा ही देश ने अपना परिचय एक बेहतरीन और जिज्ञासु  बालक की तरह दिया है।

देश की अर्थव्यवस्था पिछले कुछ सालों से बहुत नए आयाम लिख रहा है, और इसका सबसे बड़ा उदाहरण क्रिकेट है, जिसको सीधा जानने के लिए फटाफट क्रिकेट यानि IPL Highlights को देख कर समझा जा सकता है । कहा जाता है की भारत में दो चीजों का दौर हमेशा ही चलेगा एक शादियों का और दूसरा क्रिकेट का। आज क्रिकेट की लोकप्रियता का अंदाज़ा इससे लगाया जा सकता है की ये हर उम्र के लोगो का एक पूरे दिन का खास मनोरंजन बनता गया है।

एक खेल जो पूरी दुनिया एक साथ खेलती है |

ये सिर्फ कुछ टीमों का खेल नहीं वास्तव में इसमें पूरा भारत नहीं बल्कि पूरी दुनिया खेल रही होती है|  इसमें इनके जोश और उत्साह की कोई सीमा ही नहीं होती। इसके एक नए स्वरूप को हम इस तरीके से समझ सकते हैं की , ’IPL’ ने  भारत की अर्थव्यवस्था एक नया अध्याय ही लिख दिया है, और आज ‘IPL’ देश के सबसे बड़े बिज़नेस का केंद्र बनता जा रहा है  IPL दुनिया में सबसे ज्यादा -भाग लिया जाने वाला क्रिकेट लीग है और सभी खेल लीग के बीच छठे स्थान पर है।  

IPL

IPL 2019 Highlights के अनुसार क्रिकेट का यह प्रारूप, एक डिज़ाइन परिचालक के रूप में पूर्णतः विकसित होता जा रहा है |

क्या आपने मंदिरों, समाज द्वारा आयोजित त्योहारों और राजाओं द्वारा आयोजित युगल और खेल के बारे में सुना है? यह सभी समाज के अर्थव्यवस्था को विकसित करने के लिए प्रयासरत हैं। स्वस्थ वातावरण में प्रतिस्पर्धा करने के लिए एकजुट होने वाले लोग मंदिर के अधिकारियों के लिए एक महान राजस्व उत्पादक हैं, और इसके अलावा वे घटना के आसपास के नागरिकों के बीच अच्छी इच्छा और सद्भाव का प्रचार करते हैं। ओलंपिक की होस्टिंग जीडीपी को बहुत उत्प्रेरित करता है क्योंकि यह खर्च सरकार और जनता दोनों के हित में संलग्न हैं।

खेल जगत की एक ऐसी ‘डिज़ाइन स्ट्रेटेजी’ जिसका असर अर्थव्यवस्था में वैश्विक स्तर पर है |

IPL Highlights Season 2015 के डाटा पर ध्यान देने पर समझ में आयेगा की कैसे आईपीएल ने भारत के जी डी पी और अर्थव्यवस्था में 11.5 लाख ₹ (अमेरिका $ 182 मिलियन) का योगदान दिया है और अपने आप में भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जी डी पी) को जोड़ने वाले बहुविध व्यवसायों में कारोबार करता है, अन्य संबद्ध क्षेत्रों जैसे यात्रा, भोजन, दूरसंचार आदि में एक मंथन का विषय है। खिलाड़ी और ईवेंट आयोजक एकमात्र ऐसे लोग नहीं हैं जिन्हें आई पी एल का सीधा लाभ मिलता है। कई अन्य व्यवसाय और सेवाएं हैं जो आई पी एल के कारण बिक्री में वृद्धि देखते हैं।

इस महोत्सव में देश दुनिया की बड़ी से बड़ी कम्पनियाँ अपने ब्रांड को प्रोमोट करना चाहती है |

IPL एक ऐसा मंच है जहाँ एक महीने तक लगभग हर घंटे हम IPL के खबरों से जुडे होते हैं, और खेल के करीब चार घन्टे के अंतराल में खुद के ब्रांड को प्रमोट करने के अनगिनत अवसर होते हैं | तो सोचिये ऐसे अवसर को कौन भला छोड़ना चाहेगा | ग़ौरतलब यह है की एक एक सेकंड की कीमत लाखों में होती है जिसपर खर्च करने के लिए हर कोई उतना ही दम लगा रहा होता है | यह मंच एक वैश्विक मंच है जहाँ पर पूरी दुनिया एक साथ एक ही एक ही तस्वीर एवं एक ही चल-चित्र देख रही होती है | इस खेल के प्रसारण को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है की हर बडे बिज़नेस ब्रांड को अपने ओर आकर्षित करता है, और जहाँ इस स्तर पर अर्थ व्यवस्था का संचालन हो रहा हो तो इसका जीडीपी पर एक सकारात्मक असर क्यों न हो ?

IPL  के इस खेल महोत्सव में इस साल करीब बडे एवं छोटे कंपनियों को मिलाकर लगभग 30 प्रायोजक को देखा गया | इस संख्या में हर साल बढ़ोतरी देखी गयी है| देश के सबसे मोबाइल कंपनी से लेकर पान मसाला तक की कंपनियों ने हिस्सा लिया |

IPL sponsors

ब्रांडिंग एवं प्रचार प्रसार के अलग अलग माध्यम का एक प्रोफेशनल डिजाईन एवं रचनात्मक प्रणाली का महत्व

IPL एक ऐसा महोत्सव है जो दो महीने तक पूरी दुनिया को एक ही रंग में रंग देने का भाव प्रकट करती है | यह खेल का वह त्यौहार है जहाँ हर कोई अपने ऊपर तरह तरह के रंगों में रंग कर भी एक ही एक बडे मंच का एक रंग बना रहता है | रंगों का ऐसा इस्तेमाल शायद ही एक साथ किसी फैशन शो में देखने का मिलता है | डिज़ाइन एक ऐसा मंत्र है जो हर टीम हर इंसान इसको जप रहा होता है| हर कोई एक दूसरे से ज्यादा महत्वपूर्ण दिखाना चाहता है | रंग चाहे जर्सी का हो, झंडे का हो, हर रंग अपने आप में स्पेशल होता है | हर टीम की अपनी  एक पहचान है जहाँ उनको रंगों से बहुत आसानी से पहचाना जा सकता है तथा सबको एक दूसरे से अलग करते हुए सबको एक ही मंच पर रखता है | यहाँ तक की दर्शक भी खुद को तरह तरह से सजाते हुए अपने टीम के सपोर्ट में दिख जाते हैं | क्रिकेट के इस महापर्व में रचनात्मकता को बहुत महत्ता दी जाती है एवं हर साल रचनात्मकता को एक नया आयाम भी मिलता है| यह त्यौहार टेक्सटाइल से लेकर एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री तक को बढ़ावा देती नज़र आती है|

तेज़ रफ़्तार से बढते हुए युग में आईपीएल जैसे खेल की एक अलग पहचान है

इस खेल के नियम एवं शर्तों की रचना को देखा जाए तो आज की इस भाग दौड़ की दुनिया के लिए बेहद ही सटीक है| इसके प्रसारण के समय से लेकर खेल की समय सीमा तक को इस तरह डिज़ाइन किया गया है की हर तरह के उम्र एवं पेशा के दर्शक को अपना अभिन्न हिस्सा बना लेता है | इस पूरे खेल को लोग अलग अलग माध्यम से भी अपना कमाई का ज़रिया बना लेते हैं| इसलिए यह त्यौहार हर किसी के लिए कुछ न कुछ लेकर आता है और इसने भारत को विश्व के मानचित्र पर लोगों के बीच एक नयी पहचान दिला दी है| दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र आज दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट महोत्सव हर साल मनाता है, जिसका इंतज़ार पूरे साल तक पूरी दुनिया करती है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *